Blog Post को गूगल में #1 रैंक कैसे करे 2023 – Best 8+ तरीके

हेलो दोस्तों स्वागत है हमारे एक और शानदार पोस्ट में इस पोस्ट के माध्यम से हम आप सभी को ब्लॉग पोस्ट को गूगल मे रैंक कैसे करें इसके बारे में जानकारी देने वाले है। जितने भी बड़े-बड़े ब्लॉगर है वह अपनी सेपरेटेड ट्रिक्स से फर्स्ट नंबर का रैंक हो जाते हैं लेकिन ऐसे बहुत से ब्लॉगर है जो ब्लॉग किस तरीके से रैंक होता है इसके बारे में पता नहीं होता है।

Blog Post Ko Google Me Rank Kaise Kare - Digital Madad

अगर आपका वेबसाइट पुराना है या फिर नया इससे कोई फर्क नहीं पड़ेगा हम जो भी तरीके बताने वाले हैं वह दोनों वेबसाइट में अच्छे से काम होगा दोस्तों आप अपने आर्टिकल को कितना भी अच्छा क्यों ना लिखे नहीं लेकिन आर्टिकल लिखने के साथ ही साथ एक अच्छे ढंग से ऐसी ऑप्टिमाइजेशन भी करना अनिवार्य होता है।

लेकिन लोग उसी चीज को भूल जाते हैं इसी वजह से अपने ब्लॉग पोस्ट को रैंक भी नहीं कर पाते है। इस पोस्ट के माध्यम से हम आप सभी को जो तरीके बताने वाले हैं उन्हें हम अपने काम के अनुसार बताने वाले हैं क्योंकि हमारे अधिकतर पोस्ट सर्च में आ चुका है तो आप ही हमारे तरह अपने वेबसाइट को किस तरीके से फर्स्ट रैंक ला सकते हैं इसके बारे में हम एक-एक करके विस्तार से जानकारी देने वाले हैं।

वैसे हमारे बताए गए स्टेप को फॉलो करते हैं तो आप अपने आर्टिकल को रैंक करने के साथ ही साथ फर्स्ट पोजीशन पर भी ला सकते हैं। जिसे बहुत से ब्लॉगर नहीं कर पाते हैं तो चलिए अब हम बिना कोई टाइम वेस्ट किये जानते हैं कि आप भी तरीके से अपने ब्लॉक पोस्ट को गूगल में रैंक कर सकते हैं।

ब्लॉग पोस्ट को गूगल में रैंक कैसे करें ?

दोस्तों अभी के समय में ब्लॉगिंग फील्ड में बहुत ही ज्यादा कंपटीशन बढ़ गया है इसी वजह से जो लोग अपने स्किल के अनुसार ही ब्लॉगिंग करते हैं तो आप ब्लॉगिंग पर जरूर सक्सेसफुल हो जाएंगे।

वैसे तो ब्लॉग पोस्ट को गूगल में रैंक करने की बहुत सारे तरीके हैं जिनमें हम आपको कुछ यूजफुल तरीके के बारे में बताएंगे जिससे आप आसानी से गूगल पर अपने ब्लॉक पोस्ट को रैंक कर सकते हैं।

1. अपने डोमेन के नाम को बेहतरीन रखें

अभी के समय में ज्यादातर ब्लॉगर डोमेन नेम खरीदते समय नाम को सही ढंग से नहीं चेक करते हैं और बिना कोई सोचे समझे कोई भी डोमेन नाम को लिखकर खरीद लेते हैं। जिससे उसके आर्टिकल को रैंक होने में काफी समय लग सकता है।

तो सबसे पहले आपको अपने डोमेन नेम को अच्छे से सेलेक्ट कर लेना है मतलब आप जिस कैटेगरी पर अपना ब्लॉग पोस्ट लिखना चाहते हैं उसे रिलेटेड ही अपना डोमेन नेम को खरीदें जिससे आपके आर्टिकल आसानी से रैंक हो जाए क्योंकि किसी भी आर्टिकल को रैंक होने में डोमेन नेम का अभिन्न हिस्सा होता है।

उसी के साथ अगर आप किसी एक कंट्री को टारगेट करके अपना ब्लॉग का बना रहे हैं तो उसको भी जरूर ध्यान में देना है मान लीजिए अगर मैं इंडिया को टारगेट करके अपना वेबसाइट बनाऊंगा तो मैं.इन पर अपना वेबसाइट बनाऊंगा इस प्रकार वेबसाइट बनाने के लिए बहुत सारे डोमेन व केटेगरी होते हैं।

जिसके अनुसार आप अपना डोमेन नेम को रख सकते हैं उसके बाद आप उसे रिलेटेड आर्टिकल लिखेंगे तो आसानी से रैंक हो जाएगा।

2. डोमेन नेम के अनुसार ही कंटेंट राइटिंग करें

अगर आपका डोमेन नेम मेक मनी से रिलेटेड है तो आपको उसी से रेलेटेड कंटेंट राइटिंग करना है उसी तरह आपका डोमेन नेम किसी भी कैटेगरी में क्यों ना हो आप उससे रिलेटेड ही कीवर्ड रिसर्च करके कंटेंट राइटिंग कर सकते हैं जिससे हम यकिन के साथ रह सकते हैं कि आपको कुछ ही दिनों में अच्छा खासा रिजल्ट देखने को मिल सकता है।

आपने ऐसे बहुत से आर्टिकल देखे होंगे जो सर्च करने पर उसी से रिलेटेड कंटेंट ही पहले नंबर पर आता है। तो इस तरीके से जब भी आप अपना कंटेंट राइटिंग करे तो अपने डोमेन नेम के साथ ही सही रिसर्च करके आर्टिकल लिखें जिससे आप कुछ दिनों में अपने ब्लॉग पोस्ट को को रैंक कर सकते हैं।

3. सही ब्लॉग को चुने

दोस्तों आप सभी को पता होगा की ब्लॉग को दो प्लेटफार्म के माध्यम से बना सकते हैं। पहले वर्डप्रेस और दूसरा गूगल का खुद ब्लॉगर तो किसी भी वेबसाइट पर उसका भी अभिन्न किरदार है आप अपने वेबसाइट के कंटेंट राइटिंग को कितना भी अच्छा क्यों ना लिख ले जब रैंक करने की बारी आती है तो दोनों में फर्क आसानी से पता चल जाता है।

जैसे वर्डप्रेस में किसी भी प्रकार का कोडिंग करने की आवश्यकता नहीं है। अगर आपको कोडिंग में नहीं आता तब भी आप बिना कोई परेशानी के सभी प्रकार की फीचर का उपयोग ले सकते हैं। उसी में अगर बात आती है ब्लॉगर की तो इसमें आपको सभी प्रकार के कामों को लिए कोडिंग करना अनिवार्य है।

मतलब अगर आपको कोडिंग नहीं आता है तो ब्लॉगर में काफी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।तो इस तरीके से आपको अपने स्किल के अनुसार ही सही ब्लॉग को सेलेक्ट करना है। तभी आप अपने ब्लॉग पोस्ट को कुछ ही समय में रैंक करने में सफल हो सकते हैं।

4. बेहतरीन कीवर्ड को सेलेक्ट करें

दोस्तों अगर आपने वेबसाइट का अथॉरिटी इसको बहुत ही ज्यादा काम है तो पहले समय में आपको लो कंपटीशन कीवर्ड्स वाले पर ज्यादा फोकस करना है और इसी में आपको अपना डेली कंटेंट पोस्ट करना है। जिससे आपकी वेबसाइट में आसानी से ट्रैफिक बढ़ाने लगेगा।

उसी के साथ ही अगर आप अपने आर्टिकल में मेन कीवर्ड के साथ-साथ रिलेटेड कीवर्ड को भी इंक्लूड करेंगे तो उस केसेस में आपके आर्टिकल और भी ज्यादा रैंक होने संभावना नहीं आ जाता है और उसी के साथ ही आपके जो आर्टिकल है वह दूसरे कीवर्ड में भी रैंक हो जाता है।

तो जब भी आप अपना कीवर्ड सेलेक्ट करें तो आपको लो कंपटीशन वाले कीबोर्ड पर ज्यादा ध्यान देना है और उसी में अपना कंटेंट राइटिंग करके पब्लिश करना है जिससे आपको आसानी से गूगल पर फर्स्ट पोजीशन प्राप्त कर सकते हैं।

5. सजेशन कीवर्ड जरूर ऐड करें 

अभी के समय में जितने भी जो नए-नए ब्लॉगर हैं वह केवल अपने में कीबोर्ड पर ही आर्टिकल पोस्ट कर देते हैं जिससे उसकी भविष्य में ट्रैफिक देखने को नहीं मिलता है तो अगर आप इस तरीके का उपयोग कर रहे हैं तो ऐसा नहीं करना है।

मतलब जब भी आप एक कंटेंट को तैयार करेंगे तो आपको अपने में कीबोर्ड के साथ ही साथ सजेशन कीवर्ड को भी ऐड करते जाना है क्योंकि यह भी गूगल को काफी पसंद है और इससे आपके ब्लॉग पोस्ट आसानी से फर्स्ट पोजीशन में आ सकता है और जितने भी बड़े-बड़े ब्लॉगर है वह इस तकनीक का उपयोग करते हैं।

6. क्वालिटी कंटेंट तैयार करें

अभी के समय में ज्यादातर ब्लॉगर सबसे बड़ी गलती यह करते हैं कि वह अपने वेबसाइट में ज्यादा से ज्यादा वर्ड डालने के लिए बिना मतलब के कोई भी शब्द ऐड कर देते हैं और वह बिल्कुल काम का भी नहीं होता है तो आपको ऐसा बिल्कुल ही नहीं करना है आपको अपने कंटेंट का जो शब्द है वह भले ही काम हो जाए लेकिन आपके जो कंटेंट की क्वालिटी है वह बेहतरीन होना चाहिए।

मतलब आपकी वेबसाइट में जो भी लोग विजिट करें तो वह किस लिए विजिट कर रहे हैं वह चीज उसको एक ही बार में मिल जाना चाहिए तभी वह कंटेंट क्वालिटी कंटेंट माना जाएगा तो इस तरीके से अगर आप भी अपने वेबसाइट पर क्वालिटी कंटेंट तैयार करते हैं तो आप भी आसानी से गूगल में अपने ब्लॉग पोस्ट को फर्स्ट पेज में आसानी से रैंक सकते हैं।

7. इंटरनल लिंकिंग और बैक लिंक ऐड करें

जब भी आप अपनी वेबसाइट के लिए कंटेंट तैयार करते हैं तो आपको जितना ज्यादा हो सके उतना ज्यादा इंटरनल लिंकिंग तैयार करना है लेकिन ध्यान रहे आप जो इंटरनल लिंकिंग कर रहे हैं वह कस्टमर के जरूरत के हिसाब से ही हो तभी वह इंटरनल लिंकिंग के माध्यम से दूसरे पेज पर जाकर उसे कंटेंट को भी पढ़ सकते हैं

तो आपको अपने वेबसाइट या फिर कंटेंट पर इंटरनल लेकिन जरूर करना है और इंटरनल लिंकिंग करने के बाद अपने आर्टिकल में कम से कम 5 से 10 तक बैंक लिंक रोज की बनाना है जिससे आपके जो आर्टिकल की अथॉरिटी है वह ज्यादा से ज्यादा इंक्रीज होगा।

तो इस तरीके से भी आप अपने ब्लॉक पोस्ट को गूगल में आसानी से रैंक कर सकते हैं।

8. लोडिंग स्पीड को बढ़ाएं

वैसे आपको ऐसे बहुत सारे वेबसाइट दिख जाएंगे जिनका अथॉरिटी से ज्यादा तो होता है लेकिन जो वेबसाइट होते हैं उनका लोडिंग की स्पीड बहुत ही ज्यादा स्लो होता है। जिससे आर्टिकल का जो रैंक है वह धीरे-धीरे आर्टिकल नीचे की ओर जाने लगता है।

तो अगर आपकी वेबसाइट का भी लोडिंग स्पीड बहुत ही ज्यादा काम है तो आपको जितना ज्यादा हो सके उतना ज्यादा बढ़ाना है ताकि जो आपकी वेबसाइट का लोडिंग स्पीड है जल्दी से ओपन होगा।

वैसे वेबसाइट का जो लोडिंग स्पीड है उन्हें बढ़ाने के लिए अनेकों प्रकार के प्लगइन उपलब्ध है जिनके माध्यम से अपने वेबसाइट पर लोडिंग की स्पीड बढ़ा सकते हैं और गूगल में फर्स्ट पेज पर रैंक हो सकते हैं।

9. समय-समय पर अपने आर्टिकल को अपडेट करें

अगर आपने पहले से हजार आर्टिकल किये है तो आपको अपने आर्टिकल को अपडेट करने में काफी कुछ समस्या का सामना करना पड़ सकता है लेकिन अगर आप अपनी वेबसाइट में जितना ज्यादा हो सके उतना ज्यादा ट्रैफिक पाना चाहते हैं।

तो आपके पहले वाले कंटेंट को भी अपडेट करते ही जाना है ताकि जो आपकी वेबसाइट में आने वाली यूजर हैं उनको सही इनफॉरमेशन मिले और उसी के साथ ही अगर आपकी वेबसाइट में यूजर लंबे समय तक रुकेंगे तो आपके जो कंटेंट है उनका पोजीशन भी धीरे-धीरे ऊपर की ओर बढ़ता जाएगा

तो इस तरीके से गूगल पर ब्लॉग पोस्ट रैंक होने में यह भी बहुत जरूरी है।

 

Leave a Comment